नई दिल्ली. लड़कियां पहले भी पुरुषों के लिए रहस्य थी और आज भी हैं. इस गुत्थी को आजतक न कोई सुलझा पाया है और न ही कोई सुलझा पाएगा. आज भी कोई इस बात का दावा नहीं करता है कि वह एक महिला को पूरी तरह से समझ चुका है. आज हम भी आपको कुछ ऐसी बातें बताने जा रहे हैं जिसे लड़कियां करती तो हैं, लेकिन स्वीकार नहीं करती हैं.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
1. सोने से पहले मेकअप उतारना
अधिकतर लड़कियां सोने से पहले अपना मेकओवर नहीं उतारती हैं, लेकिन कहती हैं कि वे मेकअप उतारकर सोती हैं. और तो और वे अगले दिन वैसे ही जगती हैं और पिछले दिन के मेकअप के ऊपर से ही नया मेकअप कर लेती हैं.
 
 
2. उन्हें किसी की जरुरत नहीं
लड़कियां अक्सर जताती हैं कि उन्हें किसी की जरूरत नहीं है, लेकिन जैसे ही किसी कपल को बांहों में बाहें डालकर रोमांस करते हुए देखती हैं तो उन्हें जलन होने लगती है.
 
3. शॉपिंग हमारा जन्मसिद्ध अधिकार
लड़कियों का मन कभी भी खरीदारी से नहीं भरता है. उन्हें जब भी शॉपिंग का ऑफर दिया जाए वे राजी हो जाती हैं. कई बार वे जरूरत न होने पर भी शॉपिंग करती हैं.
 
 
4. बाल नहीं धोना
ज्यादातर लड़कियां या तो बाल धोती हैं नहीं या फिर भूल जाती है. उसके बाद सीरम लगाकर बालों को चमकाती हैं, लेकिन पूछने पर कहती हैं कि यह तो स्टाइल है.
 
5. परफेक्ट दिखाना
लड़कियों को हमेशा परफेक्ट दिखना बेहद पसंद है, चाहे उनका मूड खराब ही क्यों न हो वे फिर भी जाहिर करती हैं कि वे परफेक्ट हैं.
 
 
6. ड्रामा क्वीन
लड़कियां हमेशा बाथरुम या अकेले कमरे में बहुत सारा ड्रामा करती हैं. वे मानती हैं कि दुनिया में सबसे हसीन वहीं हैं.
 
7. अपने पसंद को लेकर बेचैन होना
लड़कियों को जो चीजें पसंद होती हैं उसे पाने के लिए वे पागल हो जाती हैं और उस चीज को लगातार फॉलो करती हैं. चाहे वह कोई लड़का ही क्यों न हो जो उन्हें पसंद आ गया हो. वे उसको लगातार फॉलो करती हैं.
 
 
8. बिना धोए अंडरगारमेंट पहनना
केवल लड़के ही ऐसे नहीं हैं जो बिना धोए कपड़े पहनते हैं. इस मामले में लड़कियां भी पीछे नहीं हैं. वे अक्सर ब्रा को बिना धोए पहनती हैं. इसके पीछे का तर्क यह कि बिना धोया ब्रा, नए या धोए हुए ब्रा के मुकाबले ज्यादा आरामदायक रहता है.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
9. तारीफ सुनना है पसंद
लड़कियों को अपनी तारीफ सुनना बेहद पसंद है. चाहे आप उनकी झूठी तारीफ ही क्यों न करें.