नई दिल्ली. कई दिनों से फेसबुक पर #SixWordStrory का ट्रेंड चल रहा है. जिसको देखो वही इस हैसटैग के साथ कुछ भी लिख रहा है. इसमें सबसे दिलचस्प बात यह है कि अधिकतर लोगों को इसका मतलब ही पता नहीं है. सब लोग एक दूसरे को देखकर बस 6 शब्दों में अपनी कहानी लिखे जा रहे हैं, लेकिन आज हम आपको इसकी हकीकत से रूबरू कराएंगे.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
1990 में हुई थी शुरूआत
1990 की बात है जब पहली बार यह चलन में आया. उस समय लोगों में अचानक से 6 शब्दों में कहानी लिखने की होड़ मची थी. उसी समय अमेरिका के जाने-माने उपन्यासकार अर्नेस्ट हेमिंग्वे की कहानी “For Sale: Baby Shoes, Never Worn” सामने आई थी. तब से इसका चलन चल पड़ा, हालांकि इस बात पर मतभेद है कि यह कहानी उन्हीं की है. दरअसल हेमिंग्वे ने एक बार अपने दोस्तों से कहा था कि लेखक कितना भी बड़ा तोप क्यों न हो जाए, लोग उसे कुछ नहीं समझते. उनके इसी बात पर दोस्तों ने उन्हें चुनौती देते हुए कहा यदि वे इतने बड़े तोप हैं तो सिर्फ 6 शब्दों में कहानी लिखकर दिखाएं. फिर क्या था हेमिंग्वे ने 6 शब्दों में “For Sale: Baby Shoes, Never Worn” लिखकर बाजी जीत ली थी.
 
इस समय क्यों है ट्रेंड में?
इसके अचानक से 2016 में फिर से शुरू होने के पीछे यह कारण है कि 2 जुलाई को हेमिंग्वे की पुण्यतिथि है. सिक्स वर्ड स्टोरी नाम की एक वेबसाइट भी है जो 2008 में शुरू हुई थी. जिसका मकसद इस श्रृंखला को आगे ले जाना है. वेबसाइट का एक फेसबुक पेज भी है जिसपर लोग अपनी कहानियां पोस्ट करते हैं.