बीजिंग. आज दुनिया में भले हीं तरह-तरह के डेवलपमेंट हो गए हों, लेकिन कुछ चीजें आज भी वैसे के वैसे हीं है. जिसका जीता जागता नमूना पेश किया है चीन ने. इतनी विकास और लिबरेशन की बात करने वाले चीन में हाल हीं में एक नस्लभेदी विज्ञापन रिलीज किया गया है. जिसकी पुरी दुनिया भर में थू-थू हो रही है.
 
यह चीनी डिटर्जेंट पाउडर का 48 सेकेंड का कमर्शियल ऐड है. जिसमें एक काले व्यक्ति को वॉशिंग मशीन में जबरन डाल दिया जाता है और बाहर निकाले जाने पर उसका रंग गोरा हो जाता है. ‘किऑबी’ नाम के इस प्रॉडक्ट के विज्ञापन में एक लड़की काले व्यक्ति को वॉशिंग मशीन में डालने से पहले उसके मुंह में डिटर्जेंट पाउडर भी डालती है.
 
दुनिया भर में इस विज्ञापन की हो रही आलोचना के विपरीत चीन में इसका स्वागत किया गया है. अमेरिकी मीडिया में इस चीनी विज्ञापन को चीन में रहने वाले काले लोगों के प्रति नस्लभेदी बर्ताव का उदाहरण बताया गया है.