कोेलकाता. भारतीय प्रोद्दोगिकी संस्थान (आईआईटी) के दो छात्रों ने ऐसा मोबाइल एप तैयार किया है जो आपको ट्रेन की कन्फर्म टिकट कराने में मदद करेगा. ऑनलाइन तकनीक का यह एप हर वह मार्ग तलाशता है जिससे आपको सीट मिल सके. 
 
बनाया जुगाड़ एप
 
एप कोलकाता के आईआईटी खडगपुर के छात्र रुणाल जाजू और उनके चचेरे भाई एनआइटी जमशेदपुर के छात्र शुलभ ने मिलकर लांच किया है. दोनों भाईयों ने इस एप का नाम टिकट जुगाड़ रखा है. 
 
‘टिकट कंफर्म न होने पर अब घबराने की जरूरत नहीं ’
 
रूणाल ने  उदाहरण दिते हुए कहा कि अगर आप नई ‘दिल्ली स्टेशन’ से टिकट बुक कर रहे हैं लेकिन आपको लिस्ट में वेटिंग दिखाई दे रहा है. तो आप परेशान मत होइये. आपको सिर्फ इतना करना है कि पिछले स्टेशन से टिकट बुक करा लीजिए. हो सकता है कि आपको टिकट मिल जाए.
 
रेलवे विभाग देता है इजाजत
 
जाजू ने बताया कि रेल विभाग यात्रियों को बुकिंग स्टेशन के बाद वाले स्टेशनों से रेलगाड़ी पर सवार होने की इजाजत देता है. लेकिन कुछ टिकट एजेंट बिना किसी ऐप्प की मदद से खुद से इस तरह वे कन्फर्म्ड टिकट उपलब्ध कराते हैं, लेकिन इसके लिए वे बेतहाशा पैसा वसूलते हैं.
 
गूगन स्टोर पर फ्री डाउनलोड सेवा
 
रूणाल ने बताया कि इस एप को आप गूगन स्टोर से मुफ्त में डाउनलोड कर सकते है. गूगल यह सेवा प्रदान करने के लिए कोई शुल्क नहीं लेता. बता दें कि जाजू महाराष्ट्र के औरंगाबाद के रहने वाला है और औरंगाबाद से खडग़पुर के सफर में टिकट मिलने की कठिनाइयों ने उन्हें यह एप विकसित करने की प्रेरणा दी.
 
डेढ़ लाख रुपये का मिला इनाम
 
इसके अलावा आईआईटी के उद्यमशीलता प्रकोष्ठ ने इस जुगाड़ का टिकट ऐप को समर्थन दिया है और इस स्टार्ट अप को आईआईटी खडग़पुर के वार्षिक ग्लोबल बिजनेस माडल कंपटीशन में डेढ़ लाख रुपये का इनाम भी मिला है.