नई दिल्ली. क्या एक महिला ब्रा पहनने से पहले कुछ सोचती है, शायद नहीं. बहुत सी महिला सिर्फ इसलिए ब्रा पहनती है क्योंकि पहनना चाहिए. उन्हें उसके फायदे और नुकसान के बारे में पता नहीं होता. ब्रा पहनने को लेकर महिलाओं में कई तरह के मिथ हैं जिनमें ब्रा पहनने से साइज सही रहने और शेप की बाते हैं.
 
कई महिलाओं को लगता है कि अगर वह ब्रा नहीं पहनेंगी तो शेप खराब और गंदा दिखेगा लेकिन आज हम आपको ब्रा पहनने जुड़े कुछ मिथ और सच्चाई के बारे में बता रहे हैं. पूर्वी फ्रांस के बिसेन्कॉन विश्वविद्यालय के रिसर्चर जीन डेनिस रुईलॉन ने अपने रिसर्च में  कहा है कि महिलाओं को ब्रा पहनने की जरुरत नहीं है. इनके मुताबिक ‘ब्रा एक झूठी जरूरत है’.
 
क्या है रिपोर्ट में ? 
बिसेन्कॉन विश्वविद्यालय रिपोर्ट के अनुसार एक ब्रा सिर्फ आपके बैक पेन को कम करने के अलावा और कुछ नहीं करता. अगर आपको लगता है कि ब्रा पहनने से आपका फायदा हैं तो आप गलतफहमी में जी रहीं हैं. जीन डेनिस रुईलॉन के नेतृत्व में 15 साल तक किए गए अध्ययन में यह बात सामने आया है कि ब्रा पहनना एक मिथ है. 
 
रुईलॉन के अनुसार ब्रा को लेकर हमारी मानसिकता ही ऐसी बना दी गई है कि हम इसे पहनना जरुरी समझते हैं जबकि सच कुछ और है. ब्रा हमारे लिए जरुरी नहीं है. 
 
रुईलॉन ने इस रिसर्च को साबित करने के लिए 18 से 35 उम्र वाली लड़कियों व महिलाओं पर एक शोध किया कि क्या सच में ब्रा पहनने से ब्रेस्ट में बदलाव आते हैं? इस शोध में कुछ पॉजिटिव रिजल्ट नहीं आए हैं कि ब्रा ब्रेस्ट की साइट को इफेक्ट करते हैं.
 
फ्रेच रिपोर्ट के अनुसार ब्रा नहीं पहनने से आप बिना दबाव के सांस ले सकती हैं, फ्री हो कर, बैक में पहले के मुकाबले पेन भी कम होगा. वैसी महिला जो ब्रा नहीं पहनती वो अपने आपको अच्छे से संभाल लेंगी.