नई दिल्ली. शादी के कुछ समय बाद कपल्स के बीच प्यार घटने लगता है और रोमांस की जगह रोना-धोना और शिकवा-शिकायत लेने लगती है. इसकी वजह से आए दिन लड़ाई-झगड़ा भी होने लगते हैं. ऐसे में अपनी मैरिड लाइफ में फिर से प्यार का तड़का लगाएं.
 
ये बात ठीक है कि घर में अगर पति-पत्नी दोनों नौकरी कर रहे हैं तो उनकी लाइफस्टाइल में ऑफिस सबसे ज्यादा समय खा जाता है. दोनों अपने काम में बिजी होते हैं और एक-दूसरे को काम के समय मुश्किल से ही मैसेज तक भी कर पाते हैं.
 
पति को लगता है कि पत्नी ऑफिस में किसी और के साथ बात कर रही है और बीवी को लगता है कि उनके मियां किसी और के साथ मिट्ठू बने घूम रहे हैं. दोनों एक दूसरे से कुछ कहते नहीं लेकिन ये बात मन में एक बार घर कर जाए तो ऑफिस से लेट आना भी दोनों के लिए झगड़े का बड़ा मसला है.
 
ऑफिस से भी मैसेज-चैट करते रहें
ऑफिस में काम सबको होता है और उस काम के बीच से ही हम चाय पीने का समय निकाल लेते हैं. तो जिस तरह चाय पीने के लिए समय निकालते हैं उसी तरह दिन भर बीवी को मैसेज करके उसका हाल पूछने और अपना हाल बताने के लिए समय निकालते रहें. मोबाइल पर तमाम तरह की सुविधा आज मौजूद हैं जो आपको हमेशा एक-दूसरे के पास होने का अहसास करा सकते हैं.
 
दिक्कत हो गई है तो बात कर लीजिए
किसी वजह से दोनों के बीच कोई शंका है या कुछ दिक्कत है तो आपस में बात कर लीजिए. बात करने से बात और बिगड़ने के बजाय बन जाएगी. रिश्ता संभल जाएगा. घर में लगी आग बुझ जाएगी. जब आग बुझेगी तो शांति से आप प्यार-मोहब्बत बतिया पाएंगे.
 
घर की बात बाहर शेयर न करें
पति से झगड़ा हो या तनातनी या फिर सास-ससुर से कुछ कहा-सुनी हो गई हो, ये बात किसी बाहर वाले से शेयर न करें जब तक कि वो मामला बहुत खतरनाक स्थिति में न पहुंच गया हो. सामान्य तनाव की बात हो तो पति या पत्नी को किसी और से ये बात सुनना अच्छा नहीं लगेगा.
 
बिस्तर पर ऑफिस की बातें न करें
पति और पत्नी साथ सोते तो हैं लेकिन दिन भर का हिसाब-किताब भी बिस्तर पर करने लगते हैं. ऐसे में कई बार ये हिसाब-किताब भी कलह का कारण बन जाता है. जैसे ही आप बिस्तर पर सोने के मूड में जाएं तो दुनियादारी भुलाकर अच्छे से पार्टनर के साथ इंज्वॉय करें और हम ये नहीं बताएंगे कि पार्टनर के साथ क्वालिटी टाइम कैसे बिताया जाता है. वो आप खुद समझदार हो.