नई दिल्ली. समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने आज गाज़ीपुर से चुनावी अभियान का बिगुल फूंका. कौमी एकता दल का समाजवादी पार्टी में विलय होने के बाद गाज़ीपुर की ये रैली यूपी की राजनीति के लिहाज से बहुत महत्वपूर्ण मानी जा रही थी.
 
इस रैली से समाजवादी पार्टी ही नहीं, बल्कि पूर्वांचल के बहुचर्चित बाहुबली मुख्तार अंसारी के जनाधार का भी परीक्षण होना था. गाज़ीपुर में ही 14 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीजेपी की परिवर्तन रैली की थी. इसलिए गाज़ीपुर में मुलायम की रैली को मोदी की रैली के जवाब के तौर पर भी देखा जा रहा था.
 
गाज़ीपुर में प्रधानमंत्री मोदी ने नोटबंदी के बहाने बीएसपी, कांग्रेस और समाजवादी पार्टी पर इशारों में हमला बोला था. मोदी की रैली के बाद मुख्तार अंसारी के भाई और बेटे और समाजवादी पार्टी के नेताओं ने दावा किया था कि मोदी की रैली से दोगुनी अधिक भीड़ मुलायम की रैली में जुटेगी.