चंडीगढ़. फरीदाबाद में बिजली विभाग के  कारनामें की वजह से एक पूरा परिवार सदमे में है. बिजली विभाग ने पंचर लगाने वाले की एक किराए की दूकान में 77 करोड़ 89 लाख रुपए का बिजली बिल भेजा है. दरअसल नई दिल्ली से लगे फरीदाबाद शहर की आदर्श नगर कॉलोनी में रहने वाले सुरिंदर ऑटो वर्क्‍स के मालिक ने कहा कि उसके और उसके परिवार के आश्चर्य का कोई ठिकाना नहीं रहा, जब उसे 77.89 करोड़ का बिजली का बिल मिला.
 
दुकानदार ने कहा, “मेरी दुकान किराए की है. मैं टायर का पंचर बनाता हूं. मेरा बिजली बिल हमेशा 2000-2500 रुपए के बीच रहता है. मैं दुकान में एक बल्ब और एक पंखा इस्तेमाल करता हूं. पहले का सब बिल चुकाया हुआ है.”
 
पड़ोसियों ने बताया कि इस भारीभरकम बिल के बारे में सुनकर दुकानदार की मां बीमार पड़ गई है. उसे डॉक्टर के पास ले जाना पड़ा है. बिल दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम द्वारा 31 अक्टूबर को जारी किया था.
 
बता दें कि यह पहला मौका नहीं है, जब हरियाणा में किसी को इस तरह का बिल मिला है. राज्य के सोनीपत जिले के गोहना में एक पान विक्रेता को पिछले साल अक्टूबर में 132 करोड़ रुपए का बिजली बिल मिला था. इसी तरह अप्रैल 2007 में नरनौल में एक उपभोक्ता को 234 करोड़ रुपए का बिजली का बिल मिला था.
 
बिजली कंपनियों के अधिकारियों ने ऐसे बिल जारी होने की वजह तकनीकी और कंप्यूटर जनित गड़बड़ियां बताई हैं.