लखनऊ. उत्तर प्रदेश के लखनऊ में मंगलवार से शुरू हो रहा रामोत्सव पर्व इस बार आधुनिकता से भरा हुआ होगा. टीवी सीरियल ‘रामायण’ में दिखने वाले कुछ दृश्य यहां के दर्शक इस बार ऐशबाग रामलीला के मंच पर देख सकेंगे.
 
ऐशबाग रामलीला समिति के सचिव आदित्य द्विवेदी ने कहा कि रामोत्सव के मंच को इस बार श्रीराम जन्मभूमि मंदिर के प्रस्तावित मॉडल का स्वरूप दिया गया है. यहां आने वाले दर्शकों को राम जन्मभूमि में मर्यादा पुरुषोत्तम की लीलाएं देखने जैसी अनुभूति होंगी. इसके अलावा ‘रामायण’ की घटनाएं सजीव रूप में मंच पर पेश की जाएंगी.
 
साथ ही द्विवेदी ने बताया कि इस बार भी रावण का पुतला 121 फुट का होगा, इसकी नाभि में 31 बाण जाते दिखेंगे. यह पुतला अबकी बार गोहत्या बंद करने का संदेश देगा. समीति सचिव ने बताया कि मंगलवार को नवरात्रि प्रारंभ के साथ रामोत्सव की शुरुआत सुबह 11.30 बजे कलश स्थापना से होगी. कार्यक्रम का श्रीगणेश महापौर डा. दिनेश शर्मा करेंगे. वहीं विजयादशमी के दिन मुख्य अतिथि के रुप में राज्यपाल राम नाईक आएंगे.
ians