नई दिल्ली. दिल्ली के जामा मस्जिद के शाही इमाम सैय्यद अहमद बुखारी के बेटे और मस्जिद के नायब इमाम शबन बुखारी के इस्लाम कबूल चुकी एक हिंदू लड़की से नवंबर में शादी की ख़बरें तेजी से फैल रही हैं जिसका जामा मस्जिद ने यह कहकर खंडन किया है कि शादी तो है लेकिन लड़की मुस्लिम ही है.
 
ख़बरों में कहा जा रहा है कि 13 नवंबर को नायब इमाम शबन बुखारी की शादी उनकी महिला मित्र से हो रही है. ख़बरों में दावा किया जा रहा है कि लड़की दिल्ली से सटे गाजियाबाद की रहने वाली है और हिंदू है जिसने इस शादी के लिए इस्लाम कबूल कर लिया है.
 
यूपी के एक मंत्री के इशारे पर यह झूठ फैलाई जा रही है: जामा मस्जिद
 
ख़बरों में दावा किया गया है कि शाही इमाम इस शादी के बिल्कुल खिलाफ थे क्योंकि शबन बुखारी को पिछले साल ही जामा मस्जिद का नायब इमाम बनाया गया है जो आगे चलकर शाही इमाम की जगह लेंगे. ख़बर में कहा गया है कि शाही इमाम इस शादी के लिए तभी तैयार हुए जब लड़की ने इस्लाम कबूल कर लिया और कुरान की आयतें पढ़ने लगी.
 
हालांकि शाही इमाम के दफ्तर के प्रभारी अमानुल्लाह ने इन खबरों को झूठ का पुलिंदा करार दिया है और कहा है कि यह सब उत्तर प्रदेश के पंचायत चुनाव से पहले राज्य के एक मंत्री के इशारे पर शाही इमाम की छवि खराब करने की साजिश है. अमानुल्लाह ने स्पष्ट किया कि जूनियर बुखारी की शादी जिस लड़की से हो रही है वो पूरी तरह मुस्लिम हैं.