लंदन. अल कायदा का पूर्व चीफ ओसामा बिन लादेन महात्मा गांधी से इंस्पायर था. लादेन का साल 1993 में रिकॉर्ड किया गया एक ऑडियो टेप सामने आया है. इस टेप में ओसामा अपने सपोटर्स से महात्मा गांधी के ब्रिटिश रूलर्स के खिलाफ उठाए गए कदमों से सीख लेने की सलाह देता सुना जा सकता है. ओसामा सपोटर्स से कहता है कि उन्हें अमेरिका में बनी चीजों को यूज नहीं करना चाहिए.
 
साल 2001 में अफगानिस्तान में शुरू किए गए अमेरिकी मिलिट्री ऑपरेशन के चलते ओसामा कंधार शहर छोड़ने को मजबूर हुआ था, जहां वह 1997 से डेरा डाले हुए था. यहीं एक बिल्डिंग से करीब 1500 ऑडियो और वीडियो कैसेट्स मिले थे. एक विदेशी चैनल के मुताबिक ये कैसेट मैसाचुएट्स में विलियम्स कॉलेज के अफगान मीडिया प्रोजेक्ट के पास पहुंचे थे, जिसने कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी में अरबी लैंग्वेज के एक्सपर्ट फ्लैग मिलर से इनकी डिटेल्स मांगी थी.
 
ये टेप 1960 से 2001 तक के हैं और इनमें 200 लोगों के भाषण हैं. इनमें से ज्यादातर अल कायदा और तालिबान से जुड़े नेता हैं. एक टेप में महात्मा गांधी का जिक्र किया गया है, जिन्हें ओसामा ने सितंबर 1993 में इंस्पायरिंग बताया है. इस टेप में भाषण है जिसमें ओसामा ने अपने सपोटर्स से अमरेरिका में बनी चीजों का बॉयकॉट करने को कहा है.
 
 
क्या कहा लादेन ने
टेप में ओसामा कहता है, “ ब्रिटेन का मामला देखिए, इसके बारे में कहा जाता था कि इसका कभी सूर्यास्त (सनसेट) नहीं होता. ब्रिटेन को भारत से हटना पड़ा जब गांधी ने उनके चीजों के बॉयकॉट की घोषणा की. हमें आज अमेरिका के साथ भी ऐसा ही करना चाहिए.” इन टेपों के मुताबिक ओसामा ने 1996 तक वायलेंस की किसी बात का कोई जिक्र नहीं किया था. चैनल ने मिलर के हवाले से बताया गया है कि ओसामा में बदलाव तब आया जब उसे 1996 में सूडान से निकाल दिया गया. इन रिकॉर्डिंग्स में से केवल एक टेप ऐसा है जिससे 9/11 के हमले का संकेत मिलतना है. यह ओसामा के बॉडीगार्ड उमर की शादी की रिकार्डिंग में मिला था, जिसे न्यूयॉर्क और वाशिंगटन डीसी पर हमले से कुछ महीने पहले टेप किया गया था. ओसामा को साल 2011 में अमेरिकी सील कमांडोज ने पाकिस्तान के ऐबटाबाद में मार गिराया था.
एजेंसी