धरवाड़: अक्सर लोग अपने बच्चों का नाम अलग रखने की सोचते हैं लेकिन कर्नाटक के एक गांव में लोगों ने अपने बच्चों के नाम ऐसे रखें हैं कि आपको सुनकर जोर-जोर से हंसी आएगी. जी हां इस गांव में बच्चों के नाम कॉफी और ग्लूकोज जैसे रखे गए हैं.
 
कर्नाटक के धरवाड़ जिले के भद्रपुरा नाम के गांव में आपको गूगल ग्लूकोज, कॉफी, मिलिट्री, इंग्लिश, हाईकोर्ट से लेकर अनिल कपूर, अमिताभ बच्चन, ओबामा जैसे नाम के बच्चे मिल जाएंगे.
 
हक्की- पिक्की नाम के आदिवासी समुदाय का इस तरह के अजीबो-गरीब नाम रखने की अनोखी रस्म एक दशक पहले शुरू हुई थी. यह आदिवासी कहीं भी किसी भी शहर में जाते हैं और वहां पर जो नाम सुनते थे वही अपने बच्चे का रख देते.
 
कोई भी चीज या फिर किसी सेलिब्रिटी का नाम उन्हें पसंद आ जाता तो वो लोग अपने बच्चों के नाम रख लेते हैं. इसलिए इस गांव में बच्चों के नाम शाहरुख खान, एलिजाबेथ और यहां तक गूगल भी रखा गया है. जापान के भतीजे का नाम हाईकोर्ट है और मैसूर पाक की ननद का नाम बैंगलोर पाक है. सुप्रीम कोर्ट, वन बाय टू और अमेरिका पक्के दोस्त हैं. आपको जानकर हैरानी भी होगी कि इनके यहां कांग्रेस और जनता भी है.
 
इतना ही नहीं यहां पर हर नाम के साथ एक इतिहास भी जुड़ा है और नाम से ज्यादा रोचक है. जैसे कि एक बच्चे का जन्म कॉफी प्लांटेशन के पास हुआ था तो नाम कॉफी रख दिया. इतना ही नहीं इनके आधार कार्ड, वोटर आईडी और पासपोर्ट तक उनके इन्हीं नाम से है.
 
इस आदिवासी समुदाय के लोग 14 भाषाए बोल लेते हैं. नाम की तरह यहां पर शादी और तलाक भी कुछ हटकर होते हैं. जैसे लड़के की ओर से दुल्हन को दहेज दिया जाता है. शादी रात में होती है और मंगलसूत्र आधी रात को पहनाया जाता है. अलग होने की स्थिति में महिलाओं को आधा दहेज लौटा देना होता है.