मुंबई. अभिनेत्री शिखा जोशी की मौत ने दूर से चकाचौंध भरी दिखने वाली मुंबई फिल्म उद्योग की दुनिया रुखे और दर्द भरे पहलू को सामने ला दिया है. इस हकीकत से वाकिफ कराने वाले वाकये बार-बार लोगों के सामने आते रहते हैं. कभी किसी मॉडल-अभिनेत्री को सडक पर भीख मांगते, तो कभी मानसिक संतुलन खो देने वाले फिल्म कलाकार, तो कभी रहस्यमय परिस्थिति में किसी कलाकार की मौत. अब इस लंबी कड़ी में ताजा नाम शिखा जोशी का जुड गया है. शिखा जोशी की शनिवार को मुंबई के आवास में रहस्यमय परिस्थित में मौत हो गयी थी. पुलिस ने आरंभिक तौर यह तो माना है कि वह डिप्रेशन में थीं.
 
शिखा जोशी कोई महीने-दो महीने से डिप्रेशन में नहीं थी. वे लंबे समय से मानसिक परेशानी से गुजर रही थीं. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने पूर्व में भी दो बार दवा खाकर जान देने की कोशिश की थी. एक बार 2012 में और दूसरी बार नवंबर 2013 में. उन्हें एक बार मुंबई की अंबोली पुलिस ने गिरफ्तार भी किया था, उन पर आरोप था कि उन्होंने एक डॉक्टर के घर पर पत्थर मारा था. किसी के घर पर पत्थर तो कोई ऐसे ही नहीं फेंकता है! 
 
डॉक्टर पर यौन शोषण करने की कोशिश का आरोप
मुंबई के खार के डॉक्टर पर उन्होंने 2011 में यौन शोषण की कोशिश का आरोप लगाया था व प्राथमिकी दर्ज करायी थी. उनका आरोप था कि उस डॉक्टर की वजह से उनकी जिंदगी बर्बाद हो रही है. उनकी सहेली के मुताबिक कुछ विवाहित पुरुषों ने उनकी जिंदगी को तबाह कर रखा था.
 
पति के साथ रहने के बावजूद साझे में रहती थी फ्लैट में
शिखा जोशी की आर्थिक हालत काफी खराब थी. फिल्म व टीवी में काम नहीं मिलने की वजह से महंगे मुंबई शहर में उन्हें भारी कठिनाइयों का सामना करना पडता था. उनके खाते में बीए पास जैसी ही एकाध फिल्में थीं. उनकी माली हालत का आकलन इसी बात से किया जा सकता है कि वर्सोवा इलाके के साधारण एमएचएडीए फ्लैट में भी वे मधु नाम की एक सहेली के साथ साझेदारी में रहती थीं. उनके साथ उनका पति रियाज पठान भी रहते थे. बाथरूम में उनका शव मधु ने ही पहले देखा व उनके पति को सूचित किया. पुलिस ने मधु का बयान भी लिया है.
 
काम नहीं मिलने से परेशान थी 
शिखा फिल्म व टीवी में काम नहीं मिलने से परेशान थीं. वे मकान का किराया भी ठीक ढंग से नहीं दे पा रही थीं. इतना ही नहीं वे घर पर पैसा भेजने में भी असमर्थ थीं. इस कारण वे भारी मानसिक परेशानी से गुजर रही थीं. हालांकि उनके भाई ने उनकी आत्महत्या की बात को खारिज किया है और हत्या किये जाने का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा है कि इस मामले में डॉक्टर के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए.
 
पुलिस ने क्या कहा
पुलिस ने इस मामले में शिखा जोशी के साथ रहने वाली मधु का बयान दर्ज कर लिया है. साथ ही एक्सिडेंटल डेथ की रिपोर्ट लिखी है. पुलिस ने एक ऑडियो क्लिप भी जांच के लिए फारेंसिंक लैब में भेजा है, जिसके उनकी मौत के समय रिकार्ड किये जाने की चर्चा है. पुलिस ने कहा है कि वे उनके कॉल डिटेल को चेक कर रहे हैं और यह पता कर रहे हैं कि वे किस-किस के संपर्क में थीं.
 

IANS से भी इनपुट