नई दिल्ली: 5 संदिग्ध आरोपी और एक-एक कर सारे आरोपी बरी. पांच आरोपियों में आखिरी आरोपी थे राजेश और नूपुर तलवार. जो निचली अदालत के फैसले के बाद अपनी ही बेटी आरुषि के कत्ल के जुर्म में उम्रकैद की सजा काट रहे थे लेकिन अब इलाहाबाद हाईकोर्ट ने उन्हें भी बरी कर दिया है. ऐसे में अब सवाल उठता है कि आखिर आरुषि को किसने मारा ? 
 
इस केस में 26 पेंच हैं, जिनकी चर्चा तब से हो रही है. जबसे इलाहाबाद हाईकोर्ट का फैसला आया है. हम आपको ये सारे पेंच समझाने वाले हैं क्योंकि इन सारी बातों का लब्बोलुआब यही है कि क्या आरुषि का कातिल कभी पकड़ा भी जाएगा ?
 
9 साल 4 महीने और 26 दिन बाद एक बार फिर आरुषि मर्डर केस को लेकर तमाम सवाल हर किसी के जेहन में पैदा हो गए हैं. क्योंकि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने आरुषि-हेमराज कत्ल के जुर्म में राजेश तलवार औऱ नूपुर तलवार को संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया. 25 नवंबर 2013 को सीबीआई की विशेष अदालत ने इन दोनों को हत्या का दोषी करार देते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई थी.
 

(वीडियो में देखें पूरा शो)