नई दिल्ली: जवाब तो देना होगा में आज बात स्कूलों की मनमानी के ख़िलाफ़ हमारी मुहिम के सबसे बड़े असर की. मशहूर कवि दुष्यंत की पंक्तियां हैं कि कौन कहता है आसमां में सुराख नहीं होता, एक पत्थर तो तबीयत से उछालों यारों और हमारी इस मुहिम में हम तबीयत से और बदलाव लाने की नीयत से पत्थर उछालते रहे.
 
बिना रुके, बिना डिगे और परिणाम ये है कि आसमां में सुराख़ हो रहा है. बड़ा असर ये कि अब सीबीएसई हरकत में आया है औऱ स्कूलों के ख़िलाफ़ वो कार्रवाई की है जो उसने इतने बड़े स्तर पर पहले कभी नहीं की.
 
(वीडियो में देखें पूरा शो)