नई दिल्ली: एक सन्यासी के सत्ता के सिंहासन पर बैठने की सारी रस्में हो चुकी है. आज के बाद अब हर किसी की नजर योगी सरकार के हर छोटे बड़े फैसले पर होगी. सत्ता संभालते ही योगी ने अपने मंत्रियों को भ़ड़काऊ बयान ना देने की नसीहत दी है साथ पुलिस प्रशासन को दो टूक शब्दों में चेतावनी दे दी है कि किसी भी सूरते हाल में कानून के साथ खिलवाड़ करने वालों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.
 
प्रशासनिक स्तर पर भी योगी ने पहले ही दिन अपना एक्शन प्लान सामने ला दिया. नौकरशाहों को फरमान सुना दिया गया है कि वो दफ्तर समय पर आए. अगर वक्त की पाबंदी के साथ किसी भी तरह की ढील बरती गई तो एक्शन लेने से सरकार पीछे नहीं हटेगी.
 
आपको याद होगा जब मोदी देश के प्रधानमंत्री बने तब भी अफसरों को समय पर आने का फरमान सुनाया गया था तो क्या योगी भी मोदी की तर्ज पर ही उत्तरप्रदेश में सरकार की छवि को बिलकुल सख्त दिखाना चाहते हैं या फिर ये कायदे कानून और सख्ती सब चार दिन की चांदनी की तरह तो नहीं होगी. इसी का जवाब आज हम मांग रहे है पहले एक्शन में आए योगी को सुनिए
 
(वीडियो में देखें पूरा शो)