नई दिल्ली. ललित मोदी मामले में सवालों के घेरे में आईं सुषमा स्वराज और वसुंधरा राजे को बीजेपी क्लीनचिट दे चुकी है. इसी बीच बीजेपी के मार्गदर्शक मंडल के सदस्य लाल कृष्ण आडवाणी ने इशारों-इशारों में बड़ी बात कही. पार्टी के कभी थिंक टैंक रहे गोविंदाचार्य ने भी वही बातें कहीं जो लालकृष्ण आडवाणी ने कही. 

आडवाणी ने कहा कि सार्वजनिक जीवन में सत्यनिष्ठा की जरूरत होती है. आडवाणी ने बताया कि भ्रष्टाचार का आरोप लगने पर उन्होंने तुरंत इस्तीफा दे दिया था. वहीं गोविंदाचार्य ने कहा कि ललित मोदी कांड में केंद्र सरकार को नैतिकता से मुंह नहीं मोड़ना चाहिए और आरोपी मंत्रियों को तुरंत इस्तीफा देना चाहिए. ऐसे में बड़ा सवाल ये है कि क्या आडवाणी व गोविंदाचार्य के बयान के बाद सुषमा और वसुंधरा को इस्तीफा दे देना चाहिए ?