नई दिल्ली. अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का मुद्दा फिर गरमा गया है. उज्जैन के सिंहस्थ कुंभ में संतों की धर्मसंसद ने इसकी तारीख तय कर दी है. इस बीच संतों ने इसी साल 9 नवंबर से मंदिर निर्माण का ऐलान कर दिया है.
 
अयोध्या की विवादित जमीन का मुद्दा सुप्रीम कोर्ट में लंबित है लेकिन संत कह रहे हैं नवंबर तक रास्ते की हर बाधा दूर हो जाएगी. उधर कांग्रेस पूछ रही है कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने से पहले ही ऐसी बातें क्यों की जा रही हैं ?
\
इंडिया न्यूज के खास शो ‘जन गण मन’ में पेश है इस अहम मुद्दे पर चर्चा.
 
वीडियो पर क्लिक करके देखिए पूरा शो