नई दिल्ली. भगवान शिव की साधना मनुष्य की मनोकामना पूरी करती है. शिव को प्रसन्न करने के लिए उन्हें अनेक ऐसी चीजें पूजा में अर्पित की जाती हैं जो और किसी देवता को नहीं चढ़ाई जाती. 

इनमें आंक, बिल्वपत्र, भांग आदि शामिल है लेकिन शास्त्रों के अनुसार, कुछ चीज़ें शिव पूजा में कभी उपयोग नहीं करनी चाहिए. बेलपत्र की तरह धतूरा भी शिव को प्रिय बताया गया है.हालांकि, धतूरा जहरीला फल होता है, लेकिन सनातन धर्म से जुड़ा हर जन यह जानता है कि शिव ने समुद्र मंथन से निकले गरल यानी जहर को पीकर ही जगत की रक्षा की थी. (वीडियो में देखिए शिव साधना की सर्वोत्तमा पूजा कैसे होती है)