नई दिल्ली. धोखा एक ऐसा शब्द जिससे हम सभी डरते हैं. न जाने कितने ही लोगों की जिंदगी और जिंदगी भर की मेहनत इस धोखे ने बर्बाद कर दी है. लोग धोखा उठाते है प्यार में, व्यापार में, रिश्तों में. क्यों होता ऐसा और इससे हम कैसे बच सकते है?
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
आखिर धोखा मिलता कैसे है. इसके लिए आइए सबसे पहले लड़कियों हाथ से जानते हैं कि लडकियों को कब धोखा मिलता है.
 
1. हृदय रेखा का सूर्य के नीचे रुक जाना
2. बृहस्पत पर्वत पर कटी-फटी रेखाओं का होना
3. बृहस्पत पर्वत पर किसी धब्बे का बनना खासकर जब आप किसी से प्रेम सम्बन्धों में हों. यदि ऐसा हो तो सावधान हों ही जाय और प्रेमी के मित्रों से अधिक संपर्क ना रखें और ना ही उसे अपने मित्र-रिश्तेदारों से मिलवायें और परिवार की सलाह से ही चलें.
4. हृदया रेखा का छोटी छोटी और मोटी रेखाओं द्वारा कटना
5. सूर्य पर्वत पर कटी-फटी रेखाओं का होना
6. सूर्य रेखा का छोटी छोटी और मोटी रेखाओं द्वारा कटना
 
सारी बच्चियों एक खास बात सुन लो यदि हाथ पर बृहस्पत पर्वत बहुत मोटा हो और इस पर कटी-फटी रेखायें हों, तो प्यार सोंच समझ करना क्योंकि आपसे धोखा बरदाश्त नहीं होगा और कोई गलत कदम उठा सकती हो. कुछ लड़कियां विवाह के बाद धोखा उठाती है जहां भी राहू सप्तम भाव या इसके स्वामी को प्रभावित करे तो ऐसी बच्चियों को धोखा होने की अधिक सम्भावना रहती है.
 
लड़कों को कब मिलता है धोखा?
1. यदि ह्रदय रेखा पर लंबी तथा गाड़ी रेखाएँ नीचे की ओर आ रही हो तो प्रेम मे बार बार असफलता होगी. ऐसे लोगों को प्रेम विवाह बहुत धीरज के साथ करना चाहिए एवं प्रथम प्रेम से ज़्यादा उम्मीद नहीं रखनी चाहिए.
2. यदि शुक्र पर्वत पर जाल हो तो भी सतर्क रहें तथा प्रेम न करें.
3. अब विवाह की बात करें. कुछ लड़के विवाह के बाद धोखा उठाते है. जब राहू सप्तम भाव या इसके स्वामी को प्रभावित करे और लड़का मंगल दोष से प्रभावित हो तो विवाह के उपरांत धोखा होने की अधिक सम्भावना रहती है. इनके विवाह मे भी कभी जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए और कुंडली गहराई से दिखा वा मिला लें. यह भी प्रयास करें की विवाह जान पहचान में ही हो.