नई दिल्ली. हिंदू धर्म में लगभग सभी मंत्रों में ऊँ का उच्चारण किया जाता है. ऊँ के उच्चारण के बिना मंत्र को अधूरा माना जाता है. आप और हम लगभग रोज ही ऊँ का जाप करते हैं लेकिन इसके जप का महत्व हम में से बहुत ही कम लोग जानते हैं.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
ऊँ को आत्मा का संगीत भी कहा जाता है. ऊँ का उच्चारण करने से पहले उसका अर्थ जानना जरूरी है. 
 
इंडिया न्यूज़ के खास कार्यक्रम गुरु पर्व में अध्यात्मिक गुरु पवन सिन्हा आपको बताएंगे ऊँ के जप का महत्व.