नई दिल्ली. शास्त्रों में कई ऐसे महामानवों का वर्णन मिलता है जिन्हें अमर बताया गया है. शास्त्रों के अनुसार, हनुमान जी, विभीषण, कृपाचार्च, परशुराम, अश्र्वत्थामा, वेद व्यास, दैत्यराज बाली, ऋषि मार्केण्डय को अजर-अमर होने का वरदान प्राप्त है. कहा जाता है कि इन सभी महामानवों की कृपा से 100 वर्ष की आयु प्राप्त होती है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
आज के इस खास शो में हम रामभक्त हनुमान की बात करते हैं. रामायण के मुताबिक हनुमान जी जब अशोक वाटिका में माता सीता के पास पहुंचते हैं और भगवान राम का संदेश उन्हें देते हैं.
 
उसी समय सीता माता हनुमान जी को अमर होने का वरदान देती हैं. इस संबंध में रामायण में एक श्लोक भी है. ‘अजर-अमर गुण निधि सुत होहू, करहिं सदा रघुनायक छोहू’
 
वीडियो में देखें पूरा शो