नई दिल्ली. गुरु और शिष्य के बारे में आप अच्छी तरह जानते हैं, लेकिन यह आप शायद ही जानते होंगे कि गुरु का कर्तव्य क्या होता है और शिष्य का कर्तव्य होता है. एक गुरु की कृपा से कैसे आपकी किस्मत बदल सकती है. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
 
भारत में गुरुकुल की परंपरा सदियों पुरानीं है. गुरुकल की अपनी एक महत्ता है. गरुकुल की खूबियों की बात करें तो गुरुकुल में बच्चों का सर्वांगीण विकास होता है. बच्चों में भेदभाव की भावना नहीं आती है. बच्चे गुरुकुल में सभी जातियों के बच्चों के साथ-साथ रहते हैं, खाते-पीते हैं, खेलते हैं.
 
 
आज इंडिया न्यूज के खास शो गरु पर्व में अध्यात्मिक गुरु पवन सिन्हा गुरुकुल की महत्ता पर प्रकाश डालेंगे.