नई दिल्ली. इंसान का सिग्नेचर उसकी मन की स्थिति बताता है. हस्ताक्षर व्यवहार का आइना है. हस्ताक्षर या लिखावट का सीधा संबंध हमारी सोच से होता है यानी हम जो सोचते हैं, करते हैं, जो व्यवहार में लाते हैं, वह सब कागज पर अपनी लिखावट व हस्ताक्षर के द्वारा प्रदर्शित भी होता है.
 
सही हस्ताक्षर इंसान का वक्त बदल सकती है. सिग्नेचर का महत्व आपको बताएंगे आध्यात्मिक गुरु पवन सिन्हा इंडिया न्यूज़ के खास कार्यक्रम गुडलक गुरु में.