नई दिल्ली. किसी काम को करने के बाद प्रशंसा किसे नहीं भाता. लेकिन ऐसा कई बार होता है कि हम जितना अच्छा काम कर ले न हमें यश मिलता है और न मान-सम्मान. इसके पीछे आध्यात्मिक गुरु पवन सिन्हा बताते हैं कि ये आपके कुछ कर्मों का फल हो सकता है, जिन्हें कुछ नुस्खे अपना कर सुलझाया जा सकता है.