नई दिल्ली. मनुष्य बहुत ताकतवर है. उसकी इच्छा शक्ति उसकी सबसे बड़ी ताकत होती है. इंसान मानसिक और शारीरिक रूप दोनों से ही ताकतवर है. इतिहास गवाह है कि जब जब इंसान ने चाहा है उसने बड़े बदलाव किए हैं.
 
आपकी सोच आपकी किस्म्त बदल सकती है. लेकिन कुछ तो ऐसा है कि जिससे हर इंसान अलग अलग सोचता है. वह कारक है हाथों की रेखाएं. मनुष्य के हाथों की रेखाएं विचारों को प्रभावित करती है. हाथों की रेखाएं क्या कहती है इंसान की सोच के बारे में बताएंगे अध्यात्मिक गुरू पवन सिन्हा इंडिया न्यूज़ के खास कार्यक्रम गुडलक गुरू में.