नई दिल्ली. हमारे हाथों की रेखाओं में जींदगी से जुड़े कई राज छुपे होते है. जिसे हम हस्तरेखा के रूप में जानते हैं. ऐसा माना जाता है कि 16 वर्ष की आयु तक पहुंचते-पहुंचते हाथों की रेखाओं में लगातार परिवर्तन होता रहता है. इसके बाद इन रेखाओं का प्रभाव हमारे जीवन में  धीरे-धीरे नजर आने लगता है. हाथ का विश्लेषण करते समय सबसे पहले हम हाथ की बनावट को देखते हैं.
 
आम तौर पर पुरुषों का दायां हाथ तथा स्त्रियों का बायां हाथ देखा जाता है. यदि कोई पुरुष बायें हाथ से काम करता है तो उसका बायां हाथ देखा जाता है. हाथ में जितनी कम रेखाएं होती हैं, भाग्य की दृष्टि से हाथ उतना ही सुन्दर माना जाता है. ऐसा माना जाता है की हाथों की रेखाओं के परिवर्तन से हमारे जीवन में काफी फर्क पड़ता है. जिंदगी के इसी उतार-चढ़ाव को जानने के लिए देखते रहिए इंडिया न्यूज शो गुडलक गुरु पवन सिन्हा के साथ.
 
वीडियो पर क्लिक करके देखिए पूरा शो: