नई दिल्ली. जब घर खरीदने का ख्याल आता है तो उसके लिए अच्छी समझ और जानकारी की जरुरत होती है क्योंकि घर एक ऐसी जगह होती है जहां हर व्यक्ति के सपनों को जगह मिलती है. घर खरीदने को लेकर अक्सर लोग बिल्डर, कंपनियों का सहारा लेते है जिन के ऊपर विश्वास करना ग्राहकों के लिए मुश्किल होता है.
 
ग्राहक इन प्राइवेट कंपनियों से ज्यादा सरकारी विभाग पर ज्यादा विश्वास करते है ऐसे में अगर यह सरकारी विभाग ही धोखाधड़ी अपना ले तो ग्राहकों के लिए बहुत बुरी स्थिती बन जाती है.
 
‘इंडिया न्यूज’ के खास शो घर एक सपना में आज आपको बताएंगे मेरठ, नोएडा जैसे शहरों में किस तरह सरकारी विभाग की तरफ से ग्राहकों को बेवकूफ बनाया जा रहा है. 
 
मेरठ विकास प्राधिकरण (एमडीए) ने किया धोखा
 
दिल्ली एनसीआर से जुड़े मेरठ में एमडीए की तरफ से लोगों को धोखा झेलना पड़ रहा है. एक तरफ जहां 650 फ्लैट्स वाली कॉलोनी में रहने वाले लोगों को आए दिन जान का खतरा बना रहता है वहीं दूसरी तरफ किसानों को अपनी जमीन के मुआवजे के लिए इंतजार की मार झेलनी पड़ रही है. 
 
एमडीए ने फ्लैट्स तो बना दिए लेकिन उसके लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी से कोई एनओसी नहीं ली गई और फ्लैट्स बना दिए, इतना ही नहीं जमीन अधिग्रहण के तहत किसानों से जमीन तो ले ली गई लेकिन उन्हें कोई मुआवजा नहीं दिया जा रहा है.
 
नोएडा में बिल्डरों का कहर
 
नोएडा में बिल्डरों ने घोटाले और जालसाजी कर लोगों को जमीन बेच दी है जबकि उसका जमीन पर कोई हक नहीं था. लोगों ने फ्लैट्स खरीद तो लिए है पर उन्हें धोखे की मार के साथ नोएडा अथॉरिटी के चक्कर काटने पड़ रहे है. न तो लोगों को प्लॉट मिल रहा है न ही पैसा वापिस. आईएफए नामक कंपनी का ये बिल्डर  लोगों को धोखे में रखने के साथ-साथ नए नए घोटालों को भी अंजाम दे रहा है.
 
इंडिया न्यूज के शो घर एक सपना में शिल्पी डुडेजा आपको बताएंगी कि किस तरह लोगों को दिल्ली एनसीआर में धोखे की मार का सामना करना पड़ रहा है.
 
वीडियो में देंखे पूरा शो