नई दिल्ली. एलोवेरा एक औषधीय पौधा है. इसे ग्वारपाठा, घीकवार और धृतकुमारी के नाम से भी जाना जाता है. एलोवेरा के जूस का सेवन करने से शरीर में होने वाले पोषक तत्वों की कमी को पूरा किया जा सकता है. एलोवेरा में एक जड़ी-बूटी की तरह कई गुण होते हैं. चेहरे के लिए अमृत और औषधीय गुणों का भण्‍डार है एलोवेरा.
 
 
आइए जानते हैं एलोवेरा के गुणों के बारे में…..
 
* नजले-खांसी में एलोवेरा का रस दवा का काम करता है. इसके पत्ते को भूनकर रस निकाल लें और आधा चम्मच जूस एक कप गर्म पानी के साथ लेने से नजले-खांसी में फायदा होता है.
* जलने या चोट लगने पर एलोवेरा जेल या एलोवेरा को छिलकर लगाने से आराम मिलता है. जली हुई जगह पर एलोवेरा जेल लगाने से छाले भी नहीं निकलते और तीन-चार बार लगाने से जलन भी खत्म हो जाती है.
* एलोवेरा का रस बालों में लगाने से बाल काले, घने और मुलायम रहते हैं.
* एलोवेरा का रस बवासीर, डायबिटीज और पेट की परेशानियों से निजात दिलाने में मदद करता है.
* एलोवेरा से मुहांसे, रूखी त्वचा, झुर्रियां, चेहरे के दाग धब्बों और आखों के काले घेरों को दूर किया जा सकता है.
* एलोवेरा गंजेपन को भी दूर करने की ताकत रखता है.
* एलोवेरा का जूस पीने से कब्ज की बीमारी दूर होती है.
* एलोवेरा के जूस से शरीर में खून की कमी को दूर किया जा सकता है.
* फटी एड़ियों पर एलोवेरा लगाने से बहुत जल्दी ठीक हो जाती हैं.
* एलोवेरा का जूस ब्लड में हीमोग्लोबिन की कमी को पूरा करता है.
* एलोवेरा का रस मेहंदी में मिलाकर बालों में लगाने से बाल चमकदार और स्वस्थ होते हैं.
* सरसों के तेल में एलोवेरा के रस को मिलाकर सिर धोनें से पहले लगाने से बालों में चमक आती है.
* एलोवेरा का जूस त्वचा की नमी को बनाए रखता है जिससे त्वचा स्वस्थ दिखाई देती है.
* एलोवेरा को सरसों के तेल में गर्म करके लगाने से जोड़ों के दर्द को कम किया जा सकता है.
* तेज धूप में निकलने से पहले एलोवेरा का रस अच्छी तरह त्वचा पर लगाने से त्वचा पर सनबर्न का कम असर पड़ता है.
* एलोवेरा को सौंदर्य निखार के लिए हर्बल कॉस्मेटिक प्रोडक्ट जैसे एलोवेरा जैल, बॉडी लोशन, हेयर जैल, स्किन जैल, शैंपू, साबुन में भी इस्तेमाल किया जाता है.