नई दिल्ली. इंडिया न्यूज शो फैमिली गुरु में जय मदान बताती हैं कि अष्ट मंगल एक ऐसा ओज है, जिसका मांगल्य पूर्ण प्रभाव कुछ ऐसा होता है कि लोगों के जीवन में आने वाले शूल-कंटक भी नम्र या कह लीजिए कि शूल भी फूल के समान नरम होते हैं और उल्टे हो जाते हैं.

अष्ट मंगल की स्थापना मात्र से जीवन में शुभ संकेतों का आविर्भाव होने लगता है.घर के प्रवेश द्वार पर इसे लगाने से सम्पूर्ण घर में मंगलकारी परिणाम देखने को मिलते हैं. घर के ड्राइंग रूप में इसे लगाने से उस स्थान पर होने वाली बैठक और मीटिंग में होने वाली बातचीत या विचार-विनिमय के सकारात्मक परिणाम देखे जा सकते हैं. (देखिए फैमिली गुरु…)