नई दिल्ली. पुराणों के अनुसार अक्षय तृतीया पर दान-धर्म करने वाले व्यक्ति को वैकुंठ धाम में जगह मिलती है. इसीलिए इस दिन को दान का महापर्व भी माना जाता है. इस दिन नए कार्य शुरू करने के लिए इस तिथि को शुभ माना गया है.

इस दिन हर व्यक्ति कोई न कोई नयी चीज़ खरीदता है, जैसे सोना, चांदी जिसकी जैसी आमदनी होती है वैसे काम करता है.  अक्षय तृतीया में किस प्रकार से पूजा करना लाभदायक है बताएंगी फैमिली गुरु जय मदान इंडिया न्यूज के शो फैमिली गुरु में

वीडियो में देखे पूरा शो