नई दिल्ली. नवरात्र का छठा दिन भगवती कात्यायनी की अराधना का दिन है. श्रध्दालु भक्त व साधक अनेक प्रकार से भगवती की अनुकम्पा प्राप्त करने के लिए व्रत-अनुष्ठान व साधना करते है. भगवती को नवरात्र के दूसरे दिन चीनी का भोग लगाना चाहिए और ब्राह्मण को दान में भी चीनी का प्रयोग करना चाहिए.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
देवी कात्यायनी का मंत्र सरलता से अपने भक्तों की इच्छा पूरी करने में सहायक होती है. फैमिली गुरु जय मदान बताएंगी की कैसे मां कात्यायनी बीजमंत्र का कैसे उच्चारण करे जिससे मनोकामना पूरी हो.
 
वीडियो में देखे पूरा शो