नई दिल्ली. लंबे विवादों के बाद पद्मावती से बदलकर पद्मावत नाम से रिलीज की जा रही संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत को अब भी बीजेपी शासित कई राज्यों में बैन का सामना करना पड़ रहा है. लेकिन सीएम योगी आदित्यनाथ के राज्य उत्तर प्रदेश में इस फिल्म को हरी झंडी मिल गई है. ऐसे में 25 जनवरी को रिलीज के बाद ये फिल्म बिना रोक टोक के राज्य के सिनेमा हॉल में दिखाई जाएगी.

बता दें कि इस फिल्म को गुजरात, राजस्थान और मध्य प्रदेश में पहले ही बैन कर दिया गया है. ऐसे में अन्य भाजपा शासित प्रदेशों के विपरीत योगी ने ये कदम उठाया है. माना जा रहा है कि ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि वहां विधानसभा चुनाव हो चुके हैं जबकि गुजरात को छोड़ दें तो राजस्थान और मध्यप्रदेश में होने वाले हैं तो राजपूत कार्ड का फायदा यहीं मिलेगा.

गौरतलब है कि फिल्म पद्मावती काफी लंबे समय तक न सिर्फ विवादों में रही बल्कि फिल्म से जुड़े लोगों को इसका भारी विरोध भी झेलना पड़ा. यहां तक कि उन्हें धमकी भी दी गईं. करणी सेना की ओर से शुरु हुआ फिल्म का विरोध देशभर में बढ़ता चला गया. मामले में करणी सेना के लोगों का आरोप था कि फिल्म में रानी पद्मावती और अलाउद्दीन खिलजी के रिश्तों को गलत तरीके से दिखाकर राजपूत समाज का अपमान किया गया है. इस फिल्म को लेकर विवाद में कई अन्य और संगठन भी जुड़ गए थे. जिसके बाद से 1 दिसंबर को रिलीज की जा रही इस फिल्म पर रोक लग गई थी.

फिल्म पद्मावत बैन को लेकर करणी सेना का CBFC दफ्तर के बाहर प्रदर्शन, 96 गिरफ्तार

राजस्थान और गुजरात के बाद मध्य प्रदेश में भी बैन हुई फिल्म पद्मावत