चेन्नई. मशहूर फिल्म अभिनेता और निर्देशक कमल हासन ने पोंगल त्योहार पर खेले जाने वाले ‘जल्लीकट्टु’ खेल का समर्थन किया हैं. उन्होंने कहा है कि यह खेल  हिंसक नहीं है, इसलिए इस पर रोक लगाना गलत है. हासन ने कहा कि इस खेल को पशु हिंसा से जोड़कर नहीं देखना चाहिए क्योंकि यह हमारी संस्कृति और विरासत की पहचान है.
 
 
हासन ने कहा कि इटली और स्पेन में, जहां बुल फाइटिंग मशहूर है और खेल का खत्म बुल की मौत के साथ होता है, जबकि ‘जल्लीकट्टु’ में अगर बुल पर कोई पिन भी चुभाये, तो उसे खेल से बाहर कर दिया जाता है. 
 
 
‘जल्लीकट्ट’ खेल दक्षिण भारत का त्योहार पोंगल पर खेला जाता है. इस खेल में बुल पर काबू पाया जाता है. अभी इस खेल पर रोक लगा हुआ है. जिसे हटाने की मांग की जा रही है. 
कमल हासन अपनी अगली फिल्म ‘वीरुमंडी’ में ‘जल्लीकट्टु’ का दृश्य दिखाने वाले हैं.