मुंबई. सुरीली संगीत की मल्लिका, भारत रत्‍न से सम्मानित लता दीदी का आज जन्‍मदिन है. कई बॉलीवुड सितारों को अपनी आवाज़ देने वाली लता दीदी आज 86 साल की हो गई हैं. उनका जन्‍म 28 सितंबर 1929 को महाराष्‍ट्र के इंदौर शहर में हुआ. लता जी के पिता पंडित दीनदयाल मंगेशकर रंगमंच के जाने माने कलाकार थे. इसी कारण संगीत की कला इन को विरासत में मिली. इनका पहला सुपरहिट गाना 1949 की फिल्‍म ‘महल’ का गाना ‘आयेगा आनेवाला’ था. ये गाना मधुबाला पर फिल्‍माया गया था. उसके बाद लता जी ने पीछे नहीं देखा और सफलता की नई उंचाईयों को छुआ.  
 
लता मंगेशकर को भारतीय संगीत में महत्‍वपूर्ण योगदान देने के लिए वर्ष 1969 में ‘पद्मभूषण’ से सम्‍मानित किया गया. इसके बाद उन्‍हें वर्ष 1999 में ‘पद्मविभूषण’ और 1989 में दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड से नवाजा गया. साल 2001 में उन्‍हें भारत के सर्वश्रेष्ठ सम्‍मान भारतरत्‍न से सम्‍मानित किया गया. इसके अलावा वे 3 राष्‍ट्रीय फिल्‍म अवॉर्ड से सम्‍मानित हो चुकी हैं और 1993 में उन्‍हें फिल्‍म फेयर लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्‍कार दिया गया. गायकी के सफर में लता मंगेशकर ने लगभग 30,000 से ज्‍यादा गाने गाये हैं जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है.