मुंबई. समलैंगिक अधिकारों का समर्थन करने वालों में अब ‘तनु वेड्स मनु’ और ‘रांझणा’ जैसी फिल्मों से खास पहचान बनाने वाली अभिनेत्री स्वरा भास्कर ने आईपीसी के सेक्शन 377 को शर्मनाक करार दिया है.

समलैंगिकता को केंद्र में रखकर बनी फिल्म ‘टाइमआउट’  पर एक चर्चा के दौरान स्वरा ने कहा कि भारत जैसे लोकतांत्रिक देश में हर व्यक्ति को मनचाहे तरीके से खुद को जाहिर करने का अधिकार है.

स्वरा ने कहा कि दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र में सेक्शन 377 जैसा कानून है जो हमारे समाज के ही एक समुदाय को अपराधी मानता है.

स्वरा ने इस कानून में बदलाव का मुद्दा उठाते हुए कहा कि समलैंगिकता या अप्राकृतिक सेक्स को अपराध मानने वाले कानून का अब बने रहना ठीक नहीं है और लैंगिक आजादी किसी की भी अपनी पसंद है.