पटना. पहाड़ को काटकर रास्ता बनाने वाले दशरथ मांझी पर बनी फिल्म ‘मांझी- द माउंटैनमैन’ देखने के बाद बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने कहा- शानदार, जबर्दस्त, जिंदाबाद. उन्होंने सीएम नीतीश कुमार को भी ये फिल्म देखने की सलाह दी है.

जीतनराम मांझी पटना में परिवार और पार्टी के नेताओं व सहयोगियों के साथ सिनेमा हॉल में फिल्म देखने गए थे. फिल्म देखने के बाद मांझी ने कहा कि वो भी इसी तरह के संघर्ष से गुजरे हैं जिस तरह का संघर्ष फिल्म में दिखाया गया है. उन्होंने कहा कि आज भी हालात में बहुत ज्यादा बदलाव नहीं आया है.

मांझी ने फिल्म में नवाजुद्दीन सिद्दिकी, राधिका आप्टे समेत सभी कलाकारों के काम की तारीफ की और कहा कि फिल्म के लिए उनके पास यही शब्द हैं- शानदार, जबर्दस्त, जिंदाबाद. मांझी ने फोन पर नवाजुद्दीन सिद्दिकी से बात की और पूरी फिल्म टीम को काम के लिए बधाई दी.

मांझी ने भारत सरकार से दशरत मांझी को भारत रत्न देने की मांग की. उन्होंने सवाल उठाया कि इस फिल्म को बिहार में टैक्स फ्री करने की घोषणा हुई थी सरकार की तरफ से लेकिन टिकट में टैक्स वसूला जा रहा है. उन्होंने सरकार से तुरंत इसे टैक्स फ्री करने की मांग की नहीं तो आंदोलन की धमकी दी.

मांझी ने दशरथ मांझी के गांव और पहाड़ काटकर उनके बनाए रास्ते को पर्यटन स्थल के तौर पर विकसित करने की भी मांग की है. पूर्व मुख्यमंत्री ने दशरथ मांझी के गांव गहलौर को आदर्श ग्राम बनाने की भी मांग की है.