नई दिल्ली. फिल्म ‘मांझी द माउंटेन मैन’ में दशरथ मांझी के कैरेक्टर से चर्चा बटोर रहे नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने कहा कि उनका जुनून, पागपन भी दशरथ मांझी जैसा ही है.
 
उन्होंने बॉलीवुड में अपने संघर्ष का जिक्र करते हुए इंडिया न्यूज के मैनेजिंग एडिटर राणा यशवंत से कहा, ‘मैं नहीं जानता था कि कभी मुझे मांझी फिल्म जैसा मुकाम मिलेगा. अगर ये नहीं भी मिलता तो भी मैं बारंबार प्रोड्यूसर के दर तक जाता फिर चाहे 25 साल भी क्यों न लग जाते.’ 
 
बॉलीवुड में संघर्ष
बॉलीवुड में एक्टिंग करने के लिए नवाजुद्दीन जब मुंबई आए थे तब उनके पास किराए देने के लिए पैसे नहीं थे. पहले तो उन्होंने किसी के साथ रहने के लिए उसका खाना बनाया फिर एक दिन गुस्से में आकर रुममेट से यह कह दिया कि वह भी इस इंडस्ट्री में काम करने आए हैं. नवाजुद्दीन ने बताया कि उन्हें पहला ब्रेक फिल्म ‘सरफरोश’ से मिला.
 
इसमें उन्होंने 40 सेकंड का शॉट दिया फिर एक-एक सीन के लिए दर-दर भटके. इसके बाद छह सीन मिलने में सात साल लगे. 2009 के बाद उन्हें ज्यादा मौका मिला. अब उन्होंने ‘मांझी द माउंटमैन’ तक का सफर तय कर लिया है.
 
वीडियो पर किल्क करके देखिए पूरा इंटरव्यू: