नई दिल्ली: रजनीकांत के दामाद और साउथ के सुपरस्टार धनुष को बड़ी पेटर्निटी केस में बड़ी राहत मिली है. दरअसल, मद्रास हाईकोर्ट ने मामले का निपटारा करते हुए धनुष के हक में फैसला सुनाया है.
 
कोर्ट ने धनुष को अपना बेटा बताने वाले दंपत्ति के दावे को खारिज कर दिया है. इससे पहले धनुष ने कोर्ट मामले में डीएनए टेस्ट करने से साफ इंकार कर दिया था. धनुष का कहना था कि  किसी के भी दावा करने से मैं डीएनए नहीं करा सकता, ये उनका प्राइवेसी का मामला है. वहीं मामले को सुलझाने के लिए धनुष के बर्थ मार्क टेस्ट भी किए गए थे. 
 
बता दें कि धनुष को अपना बेटा बताते हुए एक दंपती ने मद्रास हाई कोर्ट में मामला दर्ज करते हुए उनसे 65,000 रूपये के मासिक गुजारा भत्ता की मांग भी की थी.  उन्होंने दावा करते हुए कहा था कि धनुष 11वीं कक्षा में पढ़ने के दौरान होस्टल से भाग गया था, और फिर फिल्म निर्देशक कस्तूरी राजा के पास घरेलू नौकर के रूप में काम करने लगा था.  दंपति का यह भी कहना है कि फिल्म अभिनेता के रूप में धनुष की कामयाबी के बाद कस्तूरी राजा के परिवार ने उसे बेटे के रूप में स्वीकार किया. 
 
वहीं धनुष के वकीलों ने  दावा किया था कि यह अभिनेता से पैसा ऐंठने की कोशिश है.  जिस पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने धनुष का मेडिकल टेस्ट कराने का आदेश दिया था.