मुंबई: बॉलीवुड के मशहूर सिंगर सोनू निगम के अजान पर ट्वीट की वजह से मचा बवाल खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है. गुरुवार को एक मौलवी सोनू पर फतवा जारी कर कहा था कि जो उनका सिर मुंडेगा उसे 10 लाख रुपए मिलेगा. 
 
उसके बाद सोनू ने 2 बजे प्रेस कांफ्रेंस करके बताया कि उनके लिए सभी धर्म समान है उन्होंने सिर्फ लाउडस्पीकर पर सवाल उठाया था.  उसके बाद सोनू अपना सिर मुंडवा कर मीडिया के सामने आ गए. फिर मौलवी ने कहा कि अभी तक मेरी एक शर्त पूरी हुई है और 10 लाख रुपए भी तैयार हैं. इसके बाद भी फटे जूतों का माला पहनकर पूरे देश में घूमना होगा.
 
आपको बता दें कि सोनू निगम ने सोमवार को ट्वीट कर कहा था कि मैं मुस्लिम नहीं हूं और अजान की आवाज से मेरी सुबह जल्दी नींद खुल जाती है. भारत में ऐसी जबरदस्ती वाली धार्मिकता कब बंद होगी. उन्होंने एक के बाद एक कई ट्वीट किए थे आगे ये भी कहा कि जिस समय मोहम्मद ने इस्लाम की स्थापना की थी, जब बिजली नहीं थी. इसके बावजूद क्या वजह है कि एडिसन के आविष्कार के बाद भी ये शोर क्यों सुनना पड़ रहा है. उनके इस बयान के पर बवाल शुरू हो गया था.
 
सोनू निगम ने ये भी कहा कि मैं किसी मंदिर या गुरुद्वारे पर विश्वास नहीं करता कि बिजली के इस्तेमाल से लोगों को सुबह जगा देते हैं जो उस धर्म को फॉलो नहीं करते. तो क्यों..? ईमानदार? सच?  इसके बाद निगम ने कहा कि गुंडागर्दी है बस. सोनू के इन ट्वीट्स के बाद से सोशल मीडिया पर नई बहस शुरु हो गई है. ट्वीटर पर सोनू निमग ट्रेंड भी करने लगे हैं.