नई दिल्ली: रियालिटी शो ‘बिग बॉस 10’ में खुद को स्वामी बताने वाले ओम जी पर संत मंडल ने कार्रवाई करने का फैसला किया है. दिल्ली में प्राचीन संन्यास आश्रम में हुई एक बैठक में दिल्ली संत महामंडल के लोगों ने कंटेस्टंट साईं ओमनाथ की कड़े शब्दों में निंदा की है.
 
दिल्ली में हुई इस बैठक के बाद दिल्ली संत महामंडल के अध्यक्ष परमहंस दाती महाराज ने बताया कि साईं ओम नाथ नाम का यह व्यक्ति अपने आप को स्वामी और साधु बता रहा है. जबकि उसका संत और परंपरा से कोई लेना-देना नहीं है, वह एक सामान्य व्यक्ति है.
 
एक अखबार में छपी खबर के मुताबिक  ओम जी ने अभी तक जो किया है उससे साधु एवं संत समाज की छवि पर बुरा असर डालती है. साथ ही धार्मिक आस्था को भी आहत पहुंचा रही है.
 
इसलिए दिल्ली संत महामंडल बिग बॉस और भारत सरकार से निवेदन करता है कि इस व्यक्ति के नाम से स्वामी और साधु शब्द का मुखौटा हटाकर इसे बेनकाब करे. 
 
बैठक में संतों ने इस बात का भी फैसला लिया है कि वो इस बारे में बिग बॉस के ओनर से बात करेंगे और कोर्ट से कानूनी नोटिस भेजेंगे.
 
गौरतलब है कि बिग बॉस के ये कंटेस्टंट साईं ओम नाथ खुद को स्वामी बताते हैं. लेकिन बिग बॉस में उनकी छवि काफी निगेटिव हो गई है. वो आए दिन कभी मोनालिसा के साथ स्वीमिंग पूल में नहाने और कभी घर के लोगों का सामान चुराने को लेकर सुर्खियों में बने रहते हैं.