नई दिल्ली. शिव का दूसरा नाम नटराज है नटराज को नृत्य का देवता मानते है क्योंकि भगवान शिव तांडव नृत्य के प्रेमी हैं. लेकिन क्या आपको पता है भगवान शंकर तांडव क्यों करते हैं. आज तक तो आपने बहुत से तर्क सुने होंगे लेकिन प्रसिद्ध हास्य कवि सुरेन्द्र शर्मा ने जो भगवान शंकर के तांडव के पीछे जो लॉजिक दिया उसके सामने सभी लॉजिक फेल है.

सुरेंद्र शर्मा कहते हैं हर शक्ति मर्दों को औरतों से मिलती है. क्योंकि सारी शक्ति तो औरतों के पास है बुद्धी चाहिए मां सरस्वती के पास जाओ, पैसा चाहिए मां लक्ष्मी के पास जाओ, ताकत चाहिए मां दुर्गा के पास जाओ. आदमी के पास क्या है ? आगे सुरेंद्र शर्मा कहते हैं कि हमारे देश के भगवान शंकर ,विष्णु खाली बैठे हैं. जैसे ‘Minister without portfolio’ .

भगवान शंकर के तांडव करने का ये है कारण

हमारे शंकर भगवान, विष्णु भगवान बिलकुल खाली बैठे हैं. एक जा कर बेचारा पहाड़ पर बैठ गया और कपड़े भी इतने कम पहनने के लिए दिए गए हैं कि पूछिए मत ऊपर से गले में सांप डाल दिया. इतना ही परेशान करने की तो हद हो गई जटा से ठंडा पानी का गंगा निकाल दिया. पीने को मांगा तो विष पिला दिया. ऐसे में आदमी तांडव नहीं करेगा तो क्या बांसुरी बजाएगा ? दूसरे को शेश नाग पर लेटा दिया. वह भी समुंदर में जहां दूर-दूर तक पानी है.