नई दिल्ली. पाकिस्तानी स्टार फवाद खान की वजह से जहां एक तरफ करण जौहर की ‘ऐ दिल है मुश्किल’ रिलीज होने या ना होने के बवंडर में फंसी है वहीं दूसरी तरफ केंद्र सरकार ने साफ-साफ कह दिया है कि अगर पाकिस्तानी कलाकार वीजा मांगते हैं तो उसे देने से कोई परहेज नहीं है.
 
गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने समाचार एजेंसी आईएएनएस से कहा, “भारत सरकार को किसी भी पाकिस्तानी कलाकार को वीजा देने में दिक्कत नहीं है. अगर कोई वीजा मांगता है और उसकी शर्तों को पूरा करता है तो वो वीजा पाता है. ऐसा कुछ नहीं है कि हमें पाकिस्तानी नागरिकों को वीजा नहीं देना है.”
 
केंद्र सरकार का यह बयान तब आया है जब दिवाली पर रिलीज हो रही ‘ऐ दिल है मुश्किल’ की रिलीज के मोर्चे पर मुश्किलों में घिर गई है. शुक्रवार को ही सिनेमा ऑनर्स और एग्जीबीटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया ने फैसला लिया कि वो इस फिल्म को रिलीज नहीं करेंगे.
 
फवाद के साथ-साथ रणबीर कपूर, ऐश्वर्या राय बच्चन और अनुष्का शर्मा की ‘ऐ दिल है मुश्किल’ का इस एसोसिएशन के बहिष्कार का साफ मतलब है कि ये फिल्म कम से कम महाराष्ट्र, गुजरात, गोवा और कर्नाटक में कायदे से रिलीज नहीं हो पाएगी.
 
18 सितंबर को जम्मू-कश्मीर में आर्मी कैंप पर आतंकी अटैक में 19 भारतीय जवानों के शहीद होने के बाद से ही भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ा हुआ है. भारत ने जवाब में पीओके में सर्जिकल स्ट्राइक करके आतंकियों को मारा भी है.
 
उरी हमले के बाद उद्धव ठाकरे की शिवसेना और राज ठाकरे की मनसे ने पाकिस्तानी कलाकारों को भारत छोड़ने का अल्टीमेटम दिया था. उसके बाद फिल्म संगठनों ने भी माहौल ठंडा होने तक पाकिस्तानी कलाकारों को काम नहीं देने का फैसला किया. ऐसे माहौल में केंद्र का यह बयान पाकिस्तानी कलाकारों के लिए राहत की बूंद है.