जयपुर. अपने संजीदा अभिनय से लोगों को कायल करने वाले एक्टर इरफान खान का कहना है कि कुर्बानी का मतलब बाजार से खरीद कर लाए किसी बकरे की जान लेना नहीं होता है. इरफान ने यह बात जयपुर में अपनी आने वाली फिल्म मदारी के प्रमोशन के दौरान कही है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
उन्होंने कहा, ‘कुर्बानी का मतलब अपनी कोई अजीज चीज कुर्बान करना होता है. ये नहीं कि बाजार से आप कोई दो बकरे खरीद लाए और उनको कुर्बान कर दिया. आपको उन बकरों से कोई लेना-देना नहीं है तो वो कुर्बानी कहां से हुई? इससे कौन-सी दुआ कुबूल होती है? हर आदमी अपने दिल से पूछे कि किसी और की जान लेने से उसको कैसे पुण्य मिल जाएगा.’
 
इरफान ने कहा कि उन्हें गर्व है कि वह ऐसे देश में रह रहे हैं, जहां हर धर्म का सम्मान किया जाता है. उन्होंने कहा, ‘हम जो भी त्योहार मनाते हैं, हमें एक बार फिर से समझने की कोशिश करनी चाहिए कि यह त्योहार बनाए किसलिए गए हैं. मेरा सौभाग्य है कि मैं ऐसे देश में रह रहा हूं जहां हर धर्म का सम्मान होता है.’
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
बता दें कि इरफान की फिल्म मदारी 10 जून को रिलीज होने जा रही है. इस फिल्म के डायरेक्टर निशिकांत कामत हैं.