नई दिल्ली. मुजफ्फरनगर दंगों पर बनी फिल्म ‘शोरगुल’ के अभिनेता जिम्मी शेरगिल के खिलाफ ‘खामन पीर बाबा कमेटी’ ने फतवा जारी किया है. फतवे में जिम्मी पर आरोप लगाया गया है कि फिल्म में उन्होंने मुस्लिम कम्युनिटी की भावनाएं आहत करने वाले डायलॉग बोले हैं जिससे राज्य में तनाव भी फैल सकता है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
देश भर में यह फिल्म इसी शुक्रवार को रिलीज होनी है, उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर, कानपुर, गाजियाबाद और लखनऊ में फिल्म रिलीज से पहले ही बैन की जा चुकी है.
 
करीब एक महीने पहले विश्व हिंदू परिषद के नेता मिलन सोम ने भी एक पीआईएल दायर कर फिल्म की रिलीज पर रोक लगाने की मांग की थी. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने इस अपील को खारिज कर दिया था.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
इस फिल्म में मुजफ्फरनगर के साथ बाबरी और गोधरा दंगों का भी जिक्र है. फिल्म में ब्यूरोक्रेट और नेताओं के ऊपर भी कमेंट्स किए गए हैं.
 
फिल्म के को-प्रोड्यूसर अमन सिंह ने कहा, “ये दुर्भाग्यपूर्ण है कि फिल्म के खिलाफ फतवे जारी हो रहे हैं. हम यूपी के सीएम अखिलेश यादव से मिलकर बात करेंगे. हर नागरिक को हक है कि वो फिल्म देखे क्योंकि इसमें आम आदमी की आवाज है.”