नई दिल्ली. बॉलीवुड के दबंग सलमान खान और बादशाह शाहरुख खान के खिलाफ दायर याचिका पर दिल्ली का तीस हजारी कोर्ट 4 जून को फैसला सुनाएगा. दोनों खानों के खिलाफ धार्मिक भावनाएं आहत करने के आरोप में याचिका दायर की गई थी.
 
बता दें कि दोनों अभिनेताओं ने रिएलटी शो ‘बिग बॉस-9’ के प्रमोशन के दौरान एक मंदिर के सेट पर जूते पहने हुए थे. इसी मामले पर गौरव गुलाटी ने धार्मिक भावनाएं आहत करने के आरोप में दोनों अभिनेताओ के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है.
 
पिछली सुनवाई में गौरव गुलाटी ने अदालत से कहा था कि 15 दिसंबर 2015 को यूट्यूब पर जारी एक वीडियो में उन्होंने दोनों अभिनेताओं को काली मंदिर के एक सेट पर एक रियलिटी शो की शूटिंग के दौरान जूते पहने हुए देखा था. उन्होंने कहा कि पृष्ठभूमि में काली मां की प्रतिमा भी नजर आ रही है.
 
वहीं रियलिटी शो ‘बिग बॉस 9’ के सेट पर हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं को आहत करने के मामले में दिल्ली पुलिस ने सलमान खान और शाहरुख खान को दोषी नहीं माना था. अपनी रिपोर्ट में पुलिस ने कहा था कि प्रमोशनल शो को धार्मिक भावनाएं आहत करने के लिए नहीं फिल्माया गया था.
 
पुलिस ने पिछली सुनवाई में कोर्ट को बताया था कि दोनों अभिनेताओं पर संज्ञेय अपराध नहीं बनता है. दोनों की धार्मिक भावनाएं आहत करने की कोई मंशा नहीं थी.