नई दिल्ली. सदी के महानायक अमिताभ बच्चन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार के दो साल पूरे होने के उपलक्ष्य में आयोजित होने वाले आठ घंटे के कार्यक्रम ‘जरा मुस्करा दो’ की मेजबानी नहीं करेंगे, बल्कि इसके एक हिस्से पर ही दो शब्द कहेंगे, जो मोदी सरकार के चर्चित अभियान ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ से संबंधित होगा.
 
एक सूत्र ने बताया कि अमिताभ संयुक्त राष्ट्र में बालिका शिक्षा के एंबेसडर हैं और यह मुद्दा उनके दिल के करीब भी है, लिहाजा वह इस बारे में बोलेंगे. सूत्र ने कहा, ‘यह एक छोटा सा भाग है, लेकिन वह शो की मेजबानी नहीं करेंगे.’ वहीं अमिताभ के अभिनेता बेटे अभिषेक बच्चन ने भी इसकी पुष्टि की. अभिषेक बुधवार को एक फिल्म प्रचार कार्यक्रम के लिए दिल्ली में मौजूद थे. इस दौरान उन्होंने कहा, ‘वह कार्यक्रम का हिस्सा हैं, जहां उन्हें बालिका शिक्षा के बारे में बोलना है और यह एक कोई राजनीतिक कार्यक्रम नहीं है.’
 
ऐसी अटकलें थीं कि अमिताभ केंद्र की बीजेपी सरकार के दो साल पूरे होने के उपलक्ष्य में ‘जरा मुस्कुरा दो’ नामक आठ घंटे के एक शो की मेजबानी करेंगे, जिसमें कई प्रस्तुतियों व कार्यक्रमों के जरिये बीजेपी सरकार की अब तक की उपलब्धियां गिनाई जाएंगी. इसके बाद मंगलवार को विपक्षी दल कांग्रेस ने अमिताभ को आमंत्रित करने के सरकार के फैसले पर सवाल उठाया था, जिनका नाम पनामा पेपर्स विवाद में आ चुका है.