नई दिल्ली. बॉलीवुड अभिनेता रणवीर सिंह द्वारा रूपा फ्रंटलाइन के विज्ञापन पर विवाद हो गया है. पीपुल फॉर द एथिकल ट्रीटमेंट ऑफ एनीमल्स (पेटा) के आपत्ति दर्ज कराने के बाद विज्ञापन के साथ एक संदेश जोड़ा जाएगा. दरअसल इस विज्ञापन में रणवीर युवती को बचाने के लिए एक महासागर में गोता लगाते और अपनी मर्दानगी दिखाने के क्रम में एक शार्क को पीटते दिखते हैं.

विज्ञापन को देखने के बाद लोगों की नकारात्मक प्रतिक्रिया मिली थी. रूपा एंड कोपरेशन लिमिटेड के पूर्ण-कालिक निदेशक एवं ब्रांड के प्रवक्ता मुकेश अग्रवाल ने एक बयान में कहा, “यह स्पष्ट किया जाता है कि रूपा के हालिया विज्ञापन में रणवीर सिंह के साथ नजर आई शार्क असली नहीं बल्कि रबड़ निर्मित खिलौना है. हमारा इरादा किसी की भावनाएं आहत करना नहीं है. हम विज्ञापन के साथ इस बाबत एक संदेश जोड़ेंगे.’