नई दिल्ली. पनामा पेपर लीक बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन को लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है. इसमें कहा जा रहा है कि अमिताभ बहमास और ब्रिटिश वर्जिन आईलैंड स्थित कंपनी की बोर्ड मीटिंग में फोन के जरिए शामिल हुए थे. रिपोर्ट के मुताबिक अमिताभ बच्‍चन बतौर निदेशक इन कंपनियों में से दो की बोर्ड मीटिंग में ‘कॉन्‍फ्रेंस टेलीफोन’ के जरिए शामिल हुए थे.
 
एक अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रैस के मुताबिक अमिताभ ने फोन के जरिए उन्हीं कंपनियों की बोर्ड मीटिंग अटेंड की है जिनके वह सदस्य नहीं थे. बहमास की ट्रंप शिपिंग लिमिटेड और ब्रिटिश वर्जिन आईलैंड की सी बल्‍क शिपिंग कंपनी लिमिटेड की यह बैठक 12 दिसंबर 1994 को रखी गई थी
 
पनामा की लॉ फर्म मोसेक फोंसेका के लीक दस्तावेजों में नाम सामने आने के बाद अमिताभ ने कहा था कि वह कभी भी किसी भी कंपनी में बोर्ड डायरेक्टर नहीं रहे हैं. वहीं इम मामले में अमेरिकी जूडिशियल डिपार्टमेंट ने भी क्रिमिनल इन्वेस्टिगेशन शुरू कर दी है.
 
बता दें कि अमिताभ बच्चन पर आरोप है कि वह 5 हजार 50 हजार डॉलर के बीच कैपिटल वाली कंपनियों के डायरेक्टर थे.