मुंबई. प्रत्यूषा बनर्जी के खुदकुशी के पूरे 15 दिन बाद अब जा कर खुली उनकी मर्डर मिस्ट्री. जी हां राहुल राज सिंह की एक्स गर्लफ्रेंड सलोनी ने खोले कई सारे राज. मीडिया में आई रिपोर्ट्स के मुताबिक सलोनी के बयानों ने इस केस को नया और चौंका देने वाला मोड़ दे दिया है.
 
बता दें कि अभी तक लोगों को यही लग रहा था कि राहुल के उकसाने की वजह से प्रत्यूषा बनर्जी ने खुदकुशी की है, लेकिन मामला इतना ही नहीं है. इसके पीछे कई राज थे जो सलोनी ने खोले हैं.
 
सलोनी का बयान
 
उन्होंने कहा, ‘मैं कभी उन दोनों के बीच में नहीं आई. बल्कि प्रत्यूषा, मेरे और राहुल के बीच आई थी’. सलोनी ने बताया कि राहुल और उनकी मुलाकात 5 साल पहले एक कॉमन फ्रेंड के जरिए हुई थी. दोस्ती के दो साल बाद ही वह रिलेशनशिप में आ गए थे. सलोनी ने अपनी आप बीती सुनाते हुए कहा, ‘हम एक-दूसरे को तीन साल से डेट भी कर रहे थे. उस बीच हमने दो मैनेजमेंट कंपनीयां भी शुरू की थी. सब ठीक से चल रहा था. लेकिन कुछ समय बाद मेरे दोस्तों ने मुझे कहा कि राहुल मुझे चीट कर रहे हैं’.
 
सलोनी ने कहा कि राहुल उस वक्त प्रत्यूषा को डेट कर रहे थे. यह सिलसिला दोनों के बीच मई 2015 से शुरु हुआ था. लेकिन इसकी जानकारी उन्हें जुलाई में हुई. उन्होंने बताया कि जब वह प्रत्यूषा के पास इस बात का पता करने गई तो प्रत्यूषा ने उनसे राहुल की जिंदगी से बाहर हो जाने को कहा. सलोनी ने बताया कि प्रत्यूषा के ऐसा कहने के बाद दोनों के बीच बहुत लंबी बहस हुई. जिसके बाद सलोनी दोनों को छोड़ कर चली गई. बता दें कि उस समय राहुल भी प्रत्यूषा के घर में मौजूद थे.
 
राहुल ने प्रत्यूषा को गलत करार दे कर मांगी थी सलोनी से माफी 
 
सलोनी ने बताया कि उनके चले आने के बाद अगले दिन राहुल ने प्रत्यूषा के व्यवहार के लिए उनसे माफी भी मांगी थी. और उसे बेवकुफ बोल कर इग्नोर करने को कहा था. 
 
दूसरी महिला मैं नहीं 
 
सलोनी ने कहा कि दूसरी महिला वह नहीं बल्कि खुद प्रत्यूषी थी. क्योंकि प्रत्यूषा को उनके और राहुल के बारे में पता था. और सब पता होने के बाद भी उन्होंने राहुल को डेट किया.
 
सलोनी ने बताया कि जब वह अपने पापा के साथ बाद में प्रत्यूषा के घर गई तो वहां उसके माता-पिता भी बैठे हुए थे. तब प्रत्यूषा ने उन्हें बताया कि वो और राहुल शादी कर रहे हैं. सलोनी ने कहा, ‘जब मुझे दोनों की शादी के बारे में पता चला मैंने तभी उनसे सारे रिश्ते खत्म कर दिए थे’.
 
राहुल और प्रत्यूषा ने की थी मेरे साथ मार पीट
 
बता दें कि जिन दो कंपनियों में सलोनी ने अपने 30 लाख रुपय लगाए थे वो मैनेजमेंट कंपनीयां घाटे मे चली गई थीं. उनके बयान के मुताबिक जब वो 11 फरवरी 2016 को अपने पैसे मांगने राहुल के पास गई तो प्रत्यूषा और राहुल ने उनके साथ मार पीट की और उन्हें घर से बाहर फैंक दिया. उन्होंने कहा, ‘मुझे मारा गया और मेरे पैसे लौटाने से इनकार कर दिया गया था. फिर उसके बाद मैं प्रत्यूषा से नहीं मिली’.